जिम्मेदारों की लापरवाही बदहाल सरकारी भवन

न्यूज 22 इंडिया
रिपोर्ट-राजकुमार वर्मा
दरियाबाद बाराबंकी
विकास के नाम पर सरकारी धन की बर्बादी किस तरह हुई है यह देखना हो तो दरियाबाद विकासखंड के तेलमा ,लालगंज, बीकापुर ,मिरकापुर रसूलपुर कला सहित दर्जनों गाँवो में देखा जा सकता है जहाँ वर्षो पूर्व लाखो की लागत से बनाए गये

स्वास्थ्य केंद्र समुदायिक भवन सब्जी मंडी पंचायत भवन अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहे है।

हालात कागजी विकास की गवाही भले ही दे रहे हो लेकिन जिम्मेदारो ने सरकारी धन का दुरुपयोग करने में कोई कोर कसर नही छोड़ी है हालत यह हैं कि दर्जनो से ज्यादा वर्षो पूर्व निर्मित सरकारी बिल्डिंग बदहाल हो चुकी है।

यदि अफसर ग्राम पंचायतों में विकास कार्यो की कागजी समीक्षा के बजाए भौतिक सत्यापन करते तो स्थिति कुछ और होती अधिकतर ग्राम पंचायतों का निरीक्षण दफ्तरों में बैठकर ही कर लिया जाता है।

नियमानुसार तो ग्राम प्रधान से लेकर जिला पंचायत राज अधिकारी व इनसे वरिष्ठ अफसरों को हर माह 10-10 गांवों के निरीक्षण की जिम्मेदारी शासन ने दे रखी है।

ऐसे में एडीओ और बीडीओ अगर चाहते तो सभी ग्राम पंचायतों में विकास कार्यो का निरीक्षण साल में दो बार कर सकते हैं।

लेकिन निरीक्षण हकीकत में किया नहीं जाता जिससे करोड़ो की लागत से बनने वाले जन उपयोगी सरकारी भवन देख रेख के अभाव में बदहाल हो जाते है और सरकारी राजस्व को नुकसान पहुँचाया जाता है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: