वैज्ञानिक विधि से गन्ने की खेती करके किसान ज्यादा लाभ ले सकता है-बीके यादव

न्यूज 22 इंडिया

रिपोर्ट-राकेश पाठक
हैदरगढ़ बाराबंकी

वैज्ञानिक विधि से खेती करके किसान ज्यादा फायदा उठा सकता है बलरामपुर चीनी मिल समूह हैदरगढ़ इकाई के मुख्य महाप्रबन्धक बी0के0 यादव ने गन्ने की खेती में लागत मूल्य कम करने, वैज्ञानिक विधि से खेती करके अधिकतम उत्पादन प्राप्त करने, गन्ना किसानों की सुविधा बढ़ाने तथा उनके सशक्तिकरण के लिए लाभदायक एवं टिकाऊ खेती करते हुए चीनी मिल से सीधे जुड़ने के उद्देश्य से चीनी मिल समूह के बलराम ऐप का शुभारम्भ  किया ।

लोगों को सम्बोधित करते हुए श्री यादव ने बताया कि टेक्नोलोजी के इस युग में किसानों को पुराने तरीकों से हटकर आगे बढ़ना है और नऐ तकनीक पर अमल करके वे तेजी से आगे बढ़ सकते हैं ।

उन्होंने बताया कि बलराम ऐप के माध्यम से किसान अपना कोड और मोबाइल नम्बर अंकित करते ही अपना नाम, पिता का नाम, ग्राम का नाम, जोत भूमि, प्लाटवार एवं प्रजातिवार गन्ने का क्षेत्रफल, सम्बन्धित सी0एफ0ए0 इत्यादि की जानकारी प्राप्त कर लेंगे, गन्ने में बुवाई से लेकर कटाई तक तथा गन्ना फसल मंे होने वाली समस्त क्रियाएं जैसे-बीज एवं भूमि शोधन, बुवाई विधि, अन्तःकर्षण क्रियाऐं, रसायनिक उर्वरक, कीट-बीमारी एवं पेड़ी प्रबन्धन के बारे में जान सकेंगे ।  एक बार ऐप में लागिन करते ही प्लाटवार गन्ने में की जाने वाले कृषि क्रियाओं का अलर्ट किसानों के मोबाइल पर आता रहेगा, जिससे वे उस क्रिया को समय से करके, कम खर्च में अधिकतम उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं ।

किसान गन्ने से सम्बन्धित किसी भी समस्या (कीट-बीमारी इत्यादि) के निदान हेतु अपना अनुरोध लिखकर अथवा फोटो भेजकर तुरंत समाधान प्राप्त कर सकते हैं । कृषक तौल पर्ची निर्गमन, चीनी मिल में आपूर्तित गन्ने का वजन, मूल्य एवं भुगतान की पूरी जानकारी मिल जायेगी ।

उर्वरक कैलकुलेटर द्वारा केवल बुवाई एवं कटाई दिनांक, गन्ने के प्रकार (पेड़ी/पौधा) एवं बोये जाने वाले क्षेत्रफल को अंकित कर गन्ने की अधिकतम उत्पादन हेतु विभिन्न समिश्रण (डी0ए0पी, एस0एस0पी0, यूरिया, पोटाश इत्यादि) की गणना, रसायनिक उर्वरक की मात्रा एवं प्रयोग करने के समय के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेंगे ।  उर्वरक गणना करने से अनावश्यक उर्वरकों का प्रयोग कम होगा, जिससे उत्पादन लागत कम होगी ।  चीनी मिल से गन्ना किसानों को भेजे गये महत्वपूर्ण संदेश, आॅडीओ एवं विडीयो तुरन्त मिल जायेंगे ।   किसानों के ग्राम के निकटतम लघु उद्यमी की पूरी जानकारी नाम, यंत्र का नाम, मोबाइल नं0 उपलब्ध हो जायेगा, जिससे उन्हें जुताई, गुड़ाई, स्पे्र, पेड़ी प्रबंधन यंत्र, ट्रैश मल्चर, ट्रिपलर ट्राली इत्यादि यंत्र आसानी से किराये पर उपलब्ध हो सकेंगे
<span;>किसान गन्ने की क्रियाओं को समय-समय पर करके एवं उन क्रियाओं का चीनी मिल के सी0एफ0ए0 द्वारा प्रमाणित हो जाने पर रिवार्ड प्वाण्ट अर्जित कर सकते हैं ।  जो किसान न्यूनतम 150 या इससे अधिक रिवार्ड प्वाण्ट एक प्लाट पर अर्जित करेगा उसे रिवार्ड के रूप में कृषि आदानों (एग्रीइनपुट) पर कुुछ छूट मिलेगी ।   किसान बलराम ऐप का प्रयोग करके समय की बचत एवं उपज में बढ़ोत्तरी कर आय में वृद्वि करके अपने आर्थिक स्थिति में सुधार ला सकेंगे ।

सभा को सहायक महाप्रबन्धक  धर्मेश मेहरोत्रा तथा प्रगतिशील किसान उमेश सिंह ने भी सम्बोधित किया ।  प्रगतिशील किसान उमेश ंिसंह ने बलरामपुर समूह द्वारा गन्ना किसानों के हित में क्रिन्यान्वित अनेक योजनाओं तथा सुविधाओं का बखान करते हुए बलराम ऐप के लाॅचिंग हेतु चीनी मिल प्रबन्धन को धन्यवाद दिया ।  इस अवसर पर चीनी मिल के प्रबन्धक (मानव संसाधन) पुनीत मिश्र, उप महाप्रबन्धक (उत्पादन) प्रदीप कुमार, मुख्य प्रबन्धक (विद्युत) वी0के0 तोमर, उप महाप्रबन्धक (इन्स्ट्रूमेण्ट) राजेश यादव, मुख्य प्रबन्धक (गन्ना) शैलेन्द्र मिश्र, प्रवीन कुमार, प्रबन्धक गन्ना अनिल सिंह, आनन्द सिंह, मुरलीधर शर्मा, हरिबाबू सिंह सहायक प्रबन्धक अजय सिंह, ऋषि दूबे, कार्मिक अधिकारी अटल सिंह, महेश मिश्र, सुरक्षा अधिकारी निरंजन कुमार सहित गन्ना विभाग के सभी अधिकारी व कर्मचारीगण मौजूद रहे ।

सभा में क्षेत्र के सम्मानित किसान बृजेश त्रिपाठी, गंगा बक्श सिंह, अशोक सिंह, रविमणि चतुर्वेदी, राजकुमार सिंह, राज नरायण सिंह, साहब बक्श सिंह, विजय प्रताप सिंह, अंजनी तिवारी, वीरेन्द्र प्रताप सिंह, आशुतोष सिंह, अमर बहादुर वर्मा, राम सागर वर्मा, श्री नरायण, संतोष सिंह, सतीश मिश्र, मो0 रेहान खाॅ, आदित्य प्रताप सिंह, वर्मेश कुमार, राज बहादुर, सरदार सिंह, राणा प्रताप सिंह, हरिकेश बहादुर सिंह, अभिषेक सिंह, सूर्यभान सिंह, रामपाल सिंह सहित अनेक क्षेत्रीय गन्ना किसान मौजूद रहे जिन्होंने बलराम ऐप की जानकारी प्राप्त की ।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: