शव दफनाने को लेकर दो समुदायों के बीच हुआ विवाद

न्यूज 22 इंडिया
रिपोर्ट-मोहम्मद अजमल
कोठी बाराबंकी
स्थानीय थाना अंतर्गत दो समुदायों में शव दफनाने को लेकर बुधवार सुबह विवाद हो गया सूचना पर पहुंची पुलिस व तहसील कर्मचारियों के हस्तक्षेप से बुजुर्ग का शव कब्र में दफनाया गया मामला कोठी थाना क्षेत्र के मीरापुर गांव का है गांव में देर शाम तक फोर्स की तैनाती रही।

कब्रिस्तान में शव दफनाने को लेकर विवादः कोठी थाना क्षेत्र के मीरापुर गांव में मंगलवार देर रात गांव निवासी रिफाकत अली उर्फ गुन्नू (72) पुत्र स्व. फिराफत अली की स्वाभाविक मौत हो गई परिजनों द्वारा बुधवार सुबह गांव के आबादी स्थित कब्रिस्तान में शव को दफनाने की प्रक्रिया शुरू की गई ।

लेकिन गांव के नन्हे कनौजिया व सुखमी लाल के द्वारा विरोध शुरू कर दिया गया इसकी सूचना पुलिस को दी गई मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष मुन्ना कुमार ने तहसील कर्मियों की टीम बुलाई नायब तहसीलदार अभिषेक कुमार के नेतृत्व में लेखपाल व कानूनगो की टीम ने अभिलेखों का अवलोकन करते हुए

कब्रिस्तान में ही शव दफनाने की संस्तुति दी इस संबंध में हल्का लेखपाल प्रेम कुमार मिश्रा ने बताया कि दोनों पक्षों में शव दफनाने को लेकर विवाद हुआ था अभिलेखों की जांच व उक्त स्थान की नाप जोख के बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया है ।

लेखपाल ने बताया कि उक्त स्थान में पहले से ही कई पक्की कब्र बनी हुई है लेकिन विवाद की स्थिति होने से जांच की गई मामला दो समुदाय से होने पर देर शाम तक गांव में फोर्स तैनात रही।

पक्की कब निर्माण पर रोकः शव दफनाने के विवाद में पुलिस व तहसील कर्मियों की टीम के नेतृत्व में दोनों पक्षों में समझौता हो गया लेकिन पक्की कब्र निर्माण पर रोक लगा दी है पीड़ित के पक्ष के वकील अब्बास जैदी ने बताया कि दोनों पक्षों में शव दफनाने का समझौता हो गया पीड़ित ने बताया कि पुलिस कर्मचारियों ने पक्की कब्र निर्माण पर रोक लगा दी है।

उसका कहना है कि उक्त स्थान पर पहले से कई पक्की कब्र मौजूद है वह स्थान कब्रिस्तान में भी दर्ज है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: