धान खरीद धीमी गति से होने से किसान परेशान

न्यूज 22 इंडिया
रिपोर्ट-शिवशंकर तिवारी
रामसनेहीघाट बाराबंकी
शासन द्वारा किसानों का धान क्रय करने के लिए विभिन्न एजेंसियों को खरीदने के लिए आदेश दिए गए हैं लेकिन अधिकतर पीसीएफ के क्रय केंद्रों पर नाममात्र की ही खरीदारी होने से किसानों को अपना धान बाहर बाजार में ओने पौने दामों में बेचना पड़ रहा है।

तहसील क्षेत्र स्थित पीसीएफ के क्रय केंद्र बनीकोडर मे खरीद हड़ताल के चलते बाधित रही उसके बाद मिल से एग्रीमेंट ना होने के नाम पर खरीद कार्य प्रभावित रहा। बुधवार की शाम तक इस केंद्र पर केवल 500 कुंटल ही खरीदारी की जा सकी है।

जबकि इस केंद्र पर धान खरीदने के लिए 30 हजार कुंटल का लक्ष्य रखा गया है। बुधवार को इस केंद्र पर धान बेचने के लिए 4 किसान आए लेकिन उनमें से कुडवासा निवासी एक किसान का धान खराब होने के कारण वापस लौटा दिया गया ।

केवल 2 किसानों से 100 कुंटल धान की खरीदारी की गई। इसी प्रकार सादुल्लापुर पीसीएफ के केंद्र पर अभी तक मात्र 600 कुंटल धान खरीदा गया है। यहां पर अभी तक 215  किसानों ने धान बेचने के लिए अपना पंजीयन करा रखा है।

बुवाई का सीजन होने के कारण ओने पौने दामों में धान बेचने के लिए मजबूर हुआ किसान

इस समय खेतों में आलू तथा गेहूं की बुवाई को लेकर किसान को पैसे की जरूरत है जिसके लिए वह शीघ्र से शीघ्र अपना धान बेचना चाह रहा है

लेकिन कई केंद्रों पर चल नहीं धीमी गति से खरीद के कारण से मजबूरी में बाहर बाजार में 11 सौ से लेकर 12सौ रूपए में धान बेचना पड़ रहा है जिसके चलते किसान हाल बेहाल है।

खबर प्रसारित होते ही हुआ एग्रीमेंट

बुधवार को क्रय केंद्र व मिलो के बीच एग्रीमेंट ना होने के कारण खरीद कार्य बाधित होने की खबर प्रमुखता से प्रसारित की गई थी

जिसके बाद प्रशासन की सख्ती के चलते बुधवार को पीसीएफ सादुल्लापुर तथा बनीकोडर क्रय केंद्रों का ना सिर्फ मिलो से एग्रीमेंट हो गया

बल्कि मिलो द्वारा दोनों के केंद्रों पर बोरे भेजकर खरीद में तेजी लाए जाने की बात कही गई।

क्रय केंद्र प्रभारियों तथा मिल मालिकों के साथ एसडीएम ने की बैठक

किसानों की धान बेचने की समस्याओं को लेकर उप जिलाधिकारी विजय कुमार त्रिवेदी ने बुधवार की शाम क्रय केंद्र प्रभारी व मिलरो के साथ बैठक करके खरीद में तेजी लाए जाने के निर्देश दिए।

श्री त्रिवेदी ने बैठक के दौरान स्पष्ट कहा कि निर्धारित पंजीयन के अनुसार किसानों को 1 दिन पहले सूचना देकर दूसरे दिन उनका धान तुलवा लिया जाए जिससे किसानों को अनावश्यक रूप से क्रय केंद्रों के चक्कर न लगाने पड़े।

उन्होंने मिल मालिकों से भी अपील की कि वह लोग अधिक से अधिक मात्रा में क्रय केंद्रों से धान करें जिससे खरीद कार्य में बाधा ना आने पावे। उन्होंने एक बार फिर चेतावनी देते हुए कहा है कि

अगर खरीद कार्य में कोई भी बिचौलिया लिप्त पाया गया तो ना सिर्फ  उसके विरुद्ध बल्कि संबंधित क्रय केंद्र प्रभारी के विरुद्ध भी मुकदमा दर्ज कराकर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: