अडानी विल्मर के शेयरों में आया जबरदस्त उछाल

नई दिल्ली

अडानी समूह की एफएमसीजी कंपनी अडानी विल्मर के शेयरों में जबरदस्त उछाल के चलते कंपनी का मार्केट कैपिटलाईजेशन मंगलवार 26 अप्रैल 2022 के ट्रेडिंग सेशन में एक लाख करोड़ रुपये के पार चला गया.

अडानी समूह की ये सातवीं कंपनी है जिसका मार्केट वैल्य़ू 1 लाख करोड़ रुपये के पार जा पहुंचा है. वहीं दो दिनों में अडानी पावर के बाद समूह की दूसरी कंपनी है जिसका मार्केट वैल्यू एक लाख करोड़ रुपये के पार गया है.

अडानी विल्मर ने दिया 350 फीसदी का रिटर्न
अडानी विल्मर का शेयर उसके निवेशकों के लिए बड़ा मल्टीबैगर साबित हुआ है. 8 फरवरी 2022 को स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टिंग के बाद से केवल 77 दिनों में अडानी विल्मर के शेयर ने निवेशकों को 350 फीसदी का रिटर्न दिया है.

मंगलवार के ट्रेंडिंग सेशन में अडानी विल्मर का शेयर 803 रुपये के स्तर पर जा पहुंचा है. कंपनी 230 रुपये प्रति शेयर के भाव पर फरवरी 2022 में आईपीओ लेकर आई थी.

अडानी विल्मर ने किया मालामाल

मंगलवार को अडानी विल्मर का शेयर 5 फीसदी के तेजी के साथ 803 रुपये पर जा पहुंचा. अपर सर्किट लगने के बाद शेयर में ट्रेडिंग को रोकना पड़ा. बीते दो ट्रेडिंग सेशन से लगातार अडानी विल्मर के शेयर में अपर सर्किट लग रहा है।

8 फरवरी 2022 को अडानी विल्मर के शेयर की बाजार में लिस्टिंग हुई थी. लिस्टिंग फीकी रही थी. शेयर का भाव आईपीओ प्राइस 230 रुपये के नीचे जा लुढ़का था. लेकिन उस दिन के बाद से अडानी विल्मर के शेयर ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

रूस यूक्रेन युद्ध के चलते खाने के तेल के दामों में तेजी के चलते अडानी विल्मर के शेयर में तेजी बनी रही. शेयर बाजार के जानकारों का मानना है कि रूस यूक्रेन युद्ध के चलते खाने के तेल के दामों पर असर पड़ा है क्योंकि उत्पादन घट सकता है.

अडानी विल्मर के शेयर में तेजी बनी रही. शेयर बाजार के जानकारों का मानना है कि रूस यूक्रेन युद्ध के चलते खाने के तेल के दामों पर असर पड़ा है क्योंकि उत्पादन घट सकता है.

यूक्रेन एक बड़ा उत्पादक देश है. इस डेवलपमेंट का फायदा अडानी विल्मर के शेयर को मिल सकता है.वहीं अब इंडोनेशिया द्वारा 28 अप्रैल से पाम ऑयल के एक्सपोर्ट्स पर रोक लगाने के चलते अडानी विव्मर के शेयर में तेजी बनी हुई है.

यूक्रेन एक बड़ा उत्पादक देश है. इस डेवलपमेंट का फायदा अडानी विल्मर के शेयर को मिल सकता है.वहीं अब इंडोनेशिया द्वारा 28 अप्रैल से पाम ऑयल के एक्सपोर्ट्स पर रोक लगाने के चलते अडानी विव्मर के शेयर में तेजी बनी हुई है. कंपनी खाने के तेल और दूसरे एफएमसीजी प्रोडक्ट्स के कारोबार में है.

अडानी समूह की सातों कंपनी 1 लाख करोड़ क्लब में
अडानी समूह की सात कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड है. जिसमें सभी कंपनियों का मार्केट कैप एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा है. मसलन अडानी ग्रीन एनर्जी का मार्केट कैप 4.53 लाख करोड़ रुपये है. अडानी ट्रांसमिशन का मार्कैट कैप 2.96 लाख करोड़ रुपये है।

अडानी टोटल गैल का 2.78 लाख करोड़ रुपये, अडानी इंटरप्राइजेज का 2.58 लाख करोड़ रुपये, अडानी पोर्ट्स का 1.87 लाख करोड़ रुपये है और अब अडानी विल्मर भी इस क्लब में शामिल हो गया है और उसका मार्केट वैल्यू 1.04 लाख करोड़ रुपये के करीब जा पहुंचा है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: